रोजगार

नौकरी: पंचायत में लगभग 20% लोग नौकरी (सरकारी),15% प्राइवेट नौकरी करते है  75% लोग किसानी, मजदूरी करते है

फैक्टरी: इस ग्राम पंचायत के आस पास औधोगिक क्षेत्र नही है इस लिए यहाँ पर फैक्टरी कम या ना के बराबर है इस लिए लोगों के पास रोजगार कम है जिसके लिए उन्हे गाँव बाहर पनकी, सचेंडी, भौती जाना पड़ता है |

गाँव में: गाँव में कृषि, पशुपालन, डेरी, सब्जी आदि का व्यपार होता है|  करीब गाँव में सभी प्रकार की फसलों की पैदा वार होती है|

 किसान अपनी खेती करते है मजदूर खेतों एवं फॅक्टरी, दुकानों में मजदूरी, कुछ सरकारी-कुछ प्राइवेट नौकरी करते है और अपना एवं अपने परिवार का पालन पोषण करते है